Thursday, 25 October 2018

गुरुवार के दिन ना करें ये काम.

गुरुवार को क्या करना चाहिए क्या नहीं करना चाहिए?




गुरुवार को क्या करना चाहिए क्या नहीं करना चाहिए?
विष्णु जी 

गुरुवार हफ्ते में धर्म का दिन माना जाता है। इस दिन देव गुरु बृहस्पति और भगवान् विष्णु की पूजा की जाती है। ज्योतिर्विद पण्डित दयानन्द शास्त्री ने बताया कि ब्रह्मांड के सभी नौ ग्रहों में से गुरु (बृहस्पति) सबसे भारी ग्रह है। गुरुवार से जुड़े हमारे ग्रंथो में कई तरह की मान्यतायें दी गयी हैं। गुरु धर्म व शिक्षा का कारक ग्रह है। गुरु ग्रह को कमजोर होने से शिक्षा में असफलता मिलती है। साथ ही धार्मिक कार्यों में रूचि कम होती है।
हमारे जीवन में गुरुवार का बहुत महत्व है। भगवान विष्णु की कथा अनुसार ऐसे कोई कार्य नहीं करने चाहिए जिससे आपके जीवन में दुःख, और परेशानियां आये। इस दिन ऐसा कोई काम नहीं करना चाहिए जिससे कि शरीर या घर में हल्कापन आता हो। ऐसे कामों को करने से इसलिए मना किया जाता है क्योंकि ऐसा कार्यों को करने से गुरु ग्रह का शुभ परिणाम कम हो जाता है। यानी कि गुरु के प्रभाव में आने वाले कारक तत्वों का प्रभाव कम हो जाता है।जिससे आपको इसके अशुभ परिणाम झेलने पड़ सकते है।




गुरुवार को क्या खरीदना चाहिए  ?

गुरुवार को क्या खरीदना चाइये ?
विष्णु जी 



गुरुवार के दिन इलेक्ट्रॉनिक सामान खरीदा जा सकता है और अन्य प्रॉपर्टी के काम में फयदा होता है हाँ ये बात याद रखे सामान  खरीदने से पहले की सामान  पूजा पाठ से सम्बंधित न हो 
पर एक बात का विशेष ख्याल रखे की गुरुवार के दिन केवल पीले वस्र ही पहने।।




क्या करे क्या न करे ?

क्या करे क्या न करे ?
विष्णु जी


गुरुवार के दिन विजय मुहूर्त सूर्यास्त के बाद लेना चाहिए।
गुरुवार को यात्रा स्वास्थ्यप्रद और क्षेमकुशल रहती है।
नया वस्त्र गुरुवार को पहनने से ज्ञान की वृद्धि होती है।
गुरुवार का दिन विवाह के लिए श्रेष्ठ है।

देव गुरु होने के नाते बृहस्पति धर्म और शिक्षा का कारक भी माने जाते हैं। और इसके कमजोर होने से शिक्षा में असफलता और धार्मिक कार्यों में रूचि कम होने लगती है। इसीलिए इस दिन कुछ कार्यों को करने की सख्त मनाही है।

शास्त्रों के अनुसार गुरुवार के दिन महिलाओं को बाल नहीं धोने चाहिए। क्योंकि स्त्रियों की जन्मकुंडली में बृहस्पति पति और संतान का कारक होता है और अकेले बृहस्पति ग्रह के खराब होने के पति और संतान पर संकट आ सकता है। गुरुवार के दिन बाल धोना बृहस्पति को कमजोर करता है जिससे उसके शुभ प्रभावों में कमी आ जाती है। इसीलिए गुरुवार के दिन बाल नहीं धोने चाहिए। और न ही कटवाने चाहिए। इससे पति और संतान के जीवन पर प्रभाव पड़ेगा और उनकी उन्नति बाधित होगी।

पुराणों व् शास्त्रों में गुरु ग्रह को जीव कहा गया है अर्थात जीवन। और जीवन से अर्थ है आयु। बृहस्पतिवार के दिन नाख़ून काटने और शेविंग करने से भी बृहस्पति ग्रह कमजोर होता है जिससे जीवन पर दुष्प्रभाव पड़ता है। साथ ही आयु पर भी इसका फर्क पड़ता है।

जिस तरह बृहस्पति ग्रह का प्रभाव हमारे शरीर पर पड़ता है उसी प्रकार घर भी उसका उतना ही प्रभाव पड़ता है। वास्तु के मुताबिक ईशान कोण गुरु ग्रह का होता है। और ईशान कोण का सम्बन्ध परिवार के बच्चों से होता है। इसके अलावा घर के पुत्र संतान का संबंध भी इसी दिशा से होता है। ईशान कोण को धर्म और शिक्षा की दिशा भी कहा जाता है। इसीलिए इस दिन कपड़े धोना, कबाड़ घर से निकालना, घर को धोना आदि नहीं करना चाहिए। इस दिन साबुन का इस्तेमाल बिलकुल नहीं करना चाहिए। इससे घर के बच्चों और सदस्यों की शिक्षा और धर्म पर अशुभ प्रभाव पड़ते है।


जन्मकुंडली में गुरु ग्रह बहुत प्रबल होता है जिसके कारण उन्नति और तरक्की के सभी रास्ते खुलते रहते हैं। लेकिन यदि भूलकर भी ऐसे कार्यों को किया गया जो गुरु ग्रह को कमजोर करते हैं तो उसका प्रभाव आपके भविष्य पर पड़ेगा और आपके प्रमोशन में रुकावटें भी आ सकती है।

जन्मकुंडली में दूसरा और ग्यारहवां भाव धन का होता है। और गुरु ग्रह इन दोनों ही स्थानों का कारक ग्रह होता है। बृहस्पतिवार को गुरु ग्रह को कमजोर करने वाले काम करने से धन की वृद्धि रुक जाती है। और धन लाभ की जो स्थितियां बन रही होती है उनमे भी रुकावटें आने लगती है।

इसीलिए कोशिश करें की गुरुवार के दिन इन कार्यों को न करें। ये आपके जीवन और भविष्य पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकते हैं। वैसे इस दिन लक्ष्मी नारायण की पूजा करने का भी विधान है। आप उनका पूजन करके भी गुरु देव बृहस्पति को प्रसन्न कर सकते हैं। इससे आपके घर में धन की वृद्धि भी होगी।

क्या आप आर्थिक रुप से परेशान रहते हैं। अनावश्यक व्यय के कारण हर महीने आपका बजट बिगड़ रहा है तो गुरुवार के दिन धन वृद्धि के उपाय आजमाने चाहिए। ज्योतिर्विद पण्डित दयानन्द शास्त्री ने बताया गया है कि गुरु धन का कारक ग्रह है। जिस व्यक्ति पर गुरु की कृपा होती है उसकी आर्थिक स्थिति अच्छी रहती है। इसके लिए कुछ उपाय लाल किताब में बताए गए हैं।

गुरुवार के दिन सूर्योदय से पहले उठकर स्नान ध्यान करें और घी का दीप जलाकर भगवान विष्णु की पूजा करें। इसके बाद विष्णु सहस्रनाम का पाठ करें। शाम के समय केले के वृक्ष के नीचे दीपक जलाकर लड्डू या बेसन की मिठाई अर्पित करें और लोगों में बांट दें।

गुरुवार के दिन भगवान की पूजा के बाद केसर का तिलक लगाएं। अगर केसर उपलब्ध नहीं हो तब हल्दी का तिलक भी लगा सकते हैं।
गुरु का प्रभाव धन पर होता है। अगर कोई गुरुवार के दिन आपसे धन मांगने आता है तो लेन देने से बचें। गुरुवार को धन देने से आपका गुरु कमजोर हो जाता है, इससे आर्थिक परेशानी बढ़ती है।
गुरुवार के दिन माता पिता एवं गुरु का आशीर्वाद लें। इनका आशीर्वाद गुरु ग्रह का आशीर्वाद माना जाता है। इनकी प्रसन्नता के लिए पीले रंग के वस्त्र उपहार स्वरुप दें।







0 comments: